चक्रवर्ती सम्राट हैं स्वामी विवेकानंद- डॉ. चांदनीवाला

Mon, 01 Feb 2016 04:33:04 GMT

विश्व में यदि कोई चक्रवर्ती सम्राट हुआ है तो वे स्वामी विवेकानंद हैं। उन्होंने ब्रह्मचर्य की शक्ति अपने गुरु रामकृष्ण परमहंस से सीखी। स्वामी विवेकानंद कहते थे सबसे बड़ा धर्म स्वयं पर विश्वास करना है जो अपने आप पर विश्वास न करे, वह सही मायनों में नास्तिक है। यह बात डॉ. मुरलीधर चांदनीवाला ने स्वामी विवेकानंद की 153वीं जयंती पर श्रीरामकृष्ण विवेकानंद आश्रम में आयोजित व्याख्यान में कही। इसमें आशुतोष शर्मा ने कहा ज्ञान प्राप्त करना और उसे दूसरों तक पहुंचाना बहुत बड़ा पुण्य है स्वामी विवेकानंद ने विश्व को भारतीय संस्कृति का परिचय दिया और उनके विचार जनमानस को जाग्रत कर रहे हैं। अध्यक्षता सलिल चंद्र राय ने की। श्रीरामकृष्ण विवेकानंद आश्रम अध्यक्ष बद्रीलाल सुयल ने सभी को तन, मन व इच्छा शक्ति को प्रबल बनाने के लिए प्रेरित किया।
   Read More...

International News

Entertainment

FREE!!! Registration